मुंबई के लोग इन्हें मानते है दूसरा सचिन,खुद सचिन भी है इनके फैन।

0
28
Loading...

कहते है रिकॉर्ड तोड़ने के लिए ही बने होते है,सही कहते है क्योंकि क्रिकेट हो या कोई और फील्ड हर जगह पर ज़रूरी नही की एक बार जो कारनामा कर दिया जाए वह वापस नही दोहराया जा सकता। बस करने वाले में काबिलियत और करने का जुनून चाहिए । आज हम आपको एक ऐसे ही शख्स “पृथ्वी शॉ” से रूबरू कराने जा रहे है जिन्होंने क्रिकेट में अपनी काबिलियत का लोहा क्रिकेट के भगवान से भी मनवाया है ।

महज़ 3 साल की उम्र से सिख रहे है क्रिकेट:-

उस बच्चे का बचपन क्या कहता होंगा जिसने सिर्फ 4 साल की आयु में अपनी माँ को खोया हो ?  पृथ्वी महज़ 3 साल की उम्र से क्रिकेट खेल रहे हैं,सोचने वाली बात है कि जिस उम्र में विकेट की लम्बाई भी उनसे ज्यादा हुआ करती थी वह तब से क्रिकेट खेल रहे है। दरअसल पृथ्वी जब 3 साल के थे तब ही उनके पिता ने उनका दाख़िला क्रिकेट अकादमी में करा दिया और बस यही से शुरू होता है उनकी कामयाबी का सफर जो अब तक काफी ऊंचा मुकाम हासिल कर चुका है।

8 साल की उम्र में पसंद करते थे 12 साल के उम्र के बच्चों के साथ खेलना:-

एक वेबसाइट के मुताबिक पृथ्वी के कोच राजू बताते को वह बच्चो को उनकी उम्र के हिसाब से नेट प्रैक्टिस करवाते है यानी के बच्चों के लिए 10 नेट और उसके बाद वह अपने हिसाब से प्रैक्टिस करते है लेकिन जब पृथ्वी आये तब उनकी उम्र करीब 8 साल थी और वह अपनी उम्र से बड़े करीब 12 साल की उम्र के बच्चों के साथ खेलना चाहते थे,कोच ने शुरू में मना भी किया मगर 10 गेंदों की प्रैक्टिस देखकर ही उन्हें अनुमति दे दी।

Loading...

14 साल की उम्र में किया ₹36 लाख का करार:-

आपमें अपनी पहली कमाई किस उम्र में हासिल की थी ? खैर छोड़िये आपको बताते है कि सन 2011 में पृथ्वी को मैनचेस्टर में चेडली हल्म नामक स्कूल में एक महीने के कोर्स की ट्रेनिंग के लिए चुना गया था और पृथ्वी ने अपने इस एक महीने के अंतराल में ही 1,446 रन बनाए थे । इतना ही नहीं इसके ठीक बाद सन 2012 में मात्र 13 साल की उम्र में पृथ्वी ने स्कूली क्रिकेट में 546 रन की पारी खेलकर धमाल मचा दिया था । जिसके बाद पृथ्वी को इंग्लैंड में ग्लोस्टरशायर की  ओर से भी खेलने का अवसर प्राप्त हुआ और उनके अच्छे फॉर्म को देखते हुए मेरठ स्थित एसजी कंपनी ने पृथ्वी के साथ 36 लाख रुपये का करार किया। इतनी कम उम्र में पृथ्वी ने अपने कारनामो से सबको चौका कर साबित कर दिया कि वह क्रिकेट के लिए ही बने है।

सचिन के बेटे है पृथ्वी के अच्छे मित्र :-

कभी पीछे न मुड़कर देखने की चाह रखने वाले पृथ्वी ने पिछले वर्ष दिलीप ट्रॉफी में हिस्सा लेते हुए अपनी पहली ही पारी में 154 रन की शानदार पारी खेलकर मास्टर-ब्लास्टर सचिन के बाद दूसरे ऐसे क्रिकेटर बन गए जिन्होंने रणजी और दिलीप ट्रॉफी में अपने डेब्यू मैच के दौरान शतक जड़ा,पृथ्वी ने हाल ही में न्यूजीलैंड में खेले जा रहे अंडर-19 विश्व कप में तीन बार के विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी शानदार पारी खेली,इतना ही नही सचिन के बेटे अर्जुन पृथ्वी के अच्छे दोस्त भी हैं और सचिन खुद पृथ्वी की बल्लेबाजी को बेहद पसंद करते है।

पृथ्वी के कारनामो को देखकर यही लगता है कि भारत को जल्द ही क्रिकेट में एक और चमकता हुआ सितारा मिलने वाला है । आपको यह कहानी कैसी लगी हमे बताए और इसे अपने क्रिकेट प्रेमी दोस्तो के साथ भी ज़रूर शेयर करे।

Source

 

 

 

 

Leave your vote

0 points
Upvote Downvote

Total votes: 0

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here