जानिए बैंक में नौकरी करने वाले मुसलमानों का नहीं होगा निकाह, क्यों नहीं होगा?

0
28
Loading...

अब ये खबर बहुत जल्दी से फेल रही है की जो बैंक में नौकरी कर रही है उनकी शादी नै हो सकती, हमने भी सुना जब सोचा ऐसी क्या बात है तो फिर हम भी ले आए आपके लिए पूरी न्यूज़ तो दोस्तों ऐसा है की ये मुस्लमान लड़को की बात हो रही है तो हम कह सकते है की मुस्लमान लड़के जो Bank में काम कर रह है उनका निकाह नहीं हो सकता ! तो जानने के लिए पढ़ते रहिये पूरी खबर और जाने इसके पीछे की वजह ऐसा क्यों कह रहे है हम और आजकल लोगो को बस सरकारी नौकरी चाहिए सब इसी के पीछे भाग रहे है !

हमारे देश में सरकारी नौकरी करने वालों की इतनी डिमांड है कि लोग सरकारी नौकरी पाने के लिए लोग अपनी जमीनें भेजने के लिए तैयार है। सरकारी नौकरी करने वाले लोग अपने लड़के की शादी के लिए काफी दहेज मांगते हैं। और लड़की वाले उन्हें मुंह मांगा दे देने के लिए भी तैयार हो जाते हैं। लेकिन ऐसा सुनने में आ रहा है कि इस्लाम के कुछ महापुरुषों ने लड़की वालों को बैंक में नौकरी करने वाले मुसलमानों से निकाह ना करने की सलाह दी है।


लोग इस पर इसलिए अमल कर लेंगे क्योंकि यह बात भारत के सबसे बड़े इस्लामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने अपने एक पत्र में जारी की है। दरअसल इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग किसी भी जानकारी के लिए दारुल उलूम देवबंद के पास ही जाते हैं। पता चला है कि दारुल अपने फतवे में यह बात इसलिए जारी की है कि किसी ने उन्हें अपने लड़की के लिए जो रिश्ता आया था उसकी सारी जानकारी भेजी थी। और जानकारी के मुताबिक उन्होंने बताया कि बैंक में नौकरी करने वाले लोगों से अपनी लड़की की शादी करना गलत है। क्योंकि बैंक का खेल ब्याज के ऊपर आधारित है जिसको इस्लाम धर्म में गलत माना गया है। इसलिए अब बैंक में नौकरी करने वाले मुसलमान भाइयों के ऊपर भी निकाह ना होने का भी खतरा मंडरा रहा है।

Loading...


फतवे में एक और बात का जिक्र किया है। कि बहुत से इस्लामी देशों में उनके कुछ ऐसे बैंक बनाए गए हैं जो ब्याज मुक्त सिस्टम को आधार बनाकर कार्य करते हैं।

हाल ही में किसी व्यक्ति ने दारुल उलूम देवबंद से एक सवाल पूछा था कि क्या मुस्लिम महिलाएं ज्यादा आकर्षक बुर्का पहनकर बाहर जाना चाहिए तो इस पर देवबंद का एक और फतवा निकला जिसमें महिलाओं को चुस्त और आकर्षक बुर्के पहनने की इजाजत नहीं दी गई है उन्हें ऐसा करना नाजायज बताया गया है। उन्होंने कहा कि हजरत पैगंबर जी ने भी यह कहा था कि महिलाओं को तंग और डिजाइनर कपड़े पहनकर बाहर नहीं जाना चाहिए। ऐसा करने से लोग उनकी तरफ घूरते हैं। उनका कहना है कि महिलाओं को बहुत ही जरुरत पड़ने पर घर से बाहर निकलना चाहिए और तभी उन्हें ढीले ढाले वस्त्र पहनने चाहिए।

Leave your vote

0 points
Upvote Downvote

Total votes: 0

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here